28th april 2014

 

सद्गुरु की कृपा अणुशक्ति से भी ज्यादा शक्तिमान है |
द्वादशी को पूतिका (पोई) अथवा त्रयोदशी को बैगन खाने से पुत्र का नाश होता है |
वारुणी योग (आज सुबह ७.५३ से सूर्यास्त तक) के दिन गंगादि तीर्थ में स्नान, दान, उपवास १०० सुर्यग्रहण में किये जाने वाले पुण्य के समान फलदायी है |

 

Advertisements
Tithi

सद्गुरु की कृपा

Image

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s