Mangalmay Channel

प्यारा ध्यान

भगवान का नाम क्या नहीं कर सकता? भगवान का मंगलकारी नाम दुःखियों का दुःख मिटा सकता है, रोगियों के रोग मिटा सकता है, पापियों के पाप हर लेता, अभक्त को भक्त बना सकता है, मुर्दे में प्राणों का संचार कर सकता है।

भगवन्नाम-जप से क्या फायदा होता है? कितना फायदा होता है? इसका पूरा बयान करने वाला कोई वक्ता पैदा ही नहीं हुआ और न होगा।

नारदजी पिछले जन्म में विद्याहीन, जातिहीन, बलहीन दासीपुत्र थे। साधुसंग और भगवन्नाम-जप के प्रभाव से वे आगे चलकर देवर्षि नारद बन गये। साधुसंग और भगवन्नाम-जप के प्रभाव से ही कीड़े में से मैत्रेय ऋषि बन गये। परंतु भगवन्नाम की इतनी ही महिमा नहीं है। जीव से ब्रह्म बन जाय इतनी भी नहीं, भगवन्नाम व मंत्रजाप की महिमा तो लाबयान है।

संत अमृतवाणी

प्यारा ध्यान

http://www.asaramjibapu.org

जप करते जा, प्रीति करते जा, चुनरी रंगवाते जा… आनंद है, अमर आत्मा का रस है,शरीर मरने वाला है, संसार छूटने वाला है, लेकिन मेरा आत्मा-परमात्मा अमर है,शाश्वत है… ॐ ॐ आनंद… ॐ ॐ शांति… ॐ ॐ माधुर्य…ह्रदय कमल खिल रहा है, ॐ ॐ आनंद…ॐ ॐ मधुर आनंद… कृष्ण-कन्हैया, बंशी बजैया,कृष्ण ने बंशी के निमित्त सबकी चुनरी रंग डाली उस आनंद रंग में,माधुर्य रंग में, आनंद तो ब्रह्म का स्वभाव है,परमात्मा का, ॐ आनंद…ॐ गुरु…ॐ प्रभु  ॐॐ...

download here

View original post

Advertisements
Standard

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s