Mangalmay Channel

Thousands of students did Diwali Anushthan at Ahmedabad Ashram

unnamed
Video Satsang of Param Pujya Sant Shri Asharamji Bapu in Sunnyvale Hindu Temple
Date: Saturday, November 01, 2014
Satsang Time: 1:30- 3:30 pm
Address: 450 Persian Drive, Sunnyvale, CA, 94089
Contact: 408-459-9042
Bal Sanskaar Kendra: 1:30- 2:30 pm
 
Thousands of students did Diwali Anushthan at Ahmedabad Ashram Oct 23-29
Pujya Bapuji’s message to Sadhaks and Students
ॐ ॐ ॐ… सा विद्या या विमुक्तये ।
शास्त्र कहते हैं : ‘‘विद्या वही जो बंधनों से छुडा दे, जो काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार से बँधा है उसके पास सोने की लंका ने भी हो तो हर दशहरे दे दियासलाई…, 
समझ गये । वासनाओं के बंधन में जो बँधा है वह कितना भी धनवान, सत्तावान, सौंदर्यवान, बुद्धिमान दिखे पर आत्मज्ञान के बिना उसका सब कुछ तुच्छ है । संत तुलसीदासजी ने कहा :
काम क्रोध अरु लोभ मोह की, जब लग मन में खान ।
तुलसी दोनों एक हैं, क्या मूरख अरु विद्वान ।।
समाज में आज के विद्वान, धनवान, सत्तावान, सौंदर्यवान, देर-सवेर कैसी दुर्गति को प्राप्त हो जाते हैं ! कोई आत्महत्या करता है, कोई शराब पीकर, सट्टा, जुआ, जर्दा, तम्बाकू, व्यसन में सुख ढूँ‹ढकर जीवन तुच्छ कर देता है । धनभागी तो वे हैं जिन्हें विद्यार्थीकाल में सत्संग, सुमिरन और आत्मा-परमात्मा का ऊँचा ज्ञान और प्रभुप्राप्त महापुरुषों का सत्संग मिल जाता है । 
धन्या माता पिता धन्यो गोत्रं धन्यं कुलोद्भवः ।
धन्या च वसुधा देवि यत्र स्याद् गुरुभक्तता ।।
उनकी माता धन्य है, उनके पिता धन्य हैं, उनका कुल और गोत्र धन्य हैं । हे पार्वती ! वे जहाँ रहते हैं वह भूमि भी धन्य है । ये शिवजी के वचनवाला श्लोक पक्का कर लेना ।
प्यारे शिविरार्थी बच्चे-बच्चियाँ, भाई-माई ! इरादा पक्का कर लो । ॐ ॐ आनंद… ॐ ॐ शांति… ॐ ॐ प्रभुजी… ॐ ॐ गुरुजी… ॐ ॐ प्यारेजी… ॐ ॐ मेरेजी… इस प्रकार आत्मविद्या के सत्संग में, सुमिरन में, सुख में तुम सभी जल्दी आगे बढो । फिर डिग्रियाँ शोभायमान होंगी, सत्ता शोभायमान होगी । अतंरात्मा के सौंदर्य ने कुरूप सुकरात को भी महान बना दिया । १२ वर्ष के कुरूप काले कलूट, टेंढी टाँग, शरीर में आठ खोड-खाबडवाले अष्टावक्र मुनि को राजा जनक पूजते हैं और उनसे आत्मज्ञान, आत्मसुख पाकर धन्य होते हैं । तुम उसी विद्या को पा रहे हो, पचाते जाओ ! सत्संग की पुस्तकों में से और कैसेटों में से रोज अमृतपान करो !! 
तुम मरनेवाला शरीर नहीं हो, दुःखी और भयभीत होनेवाले मन नहीं हो, राग-द्वेष में फँसनेवाली बुद्धि नहीं हो, परमात्मा, गुरु के अमृतमय आत्मा हो । ॐ अमृतोऽसि । शाश्वतोऽसि । चैतन्योऽसि । 
बापू के बच्चे नहीं रहेंगे कच्चे । आत्मविद्या पायेंगे, आत्मसुख पायेंगे, विश्वमानव को जगायेंगे ।
१०८ जो पाठ करेंगे, उनके सारे काज सरेंगे ।
हिम्मत, साहस, संयम, तत्परता, बुद्धि, शक्ति, पराक्रम । हरि ॐ हरि ॐ हरि ॐ… (हास्य प्रयोग) । शांतिः शांतिः शांतिः । गहरी शांति ! जीभ तालू में लगा दो सब । तुम मन में इन वचनों को सुरक्षित कर लो । नम्बर सेव होते हैं ऐसे ये आशीर्वचन का पत्र अपने दिल में सुरक्षित कर लो । इस बार शिविरार्थियों की संख्या पिछले साल से ११ गुनी है । अभी आऊँगा तो कितने गुनी होगी तुम ही जानो । कदम अपने आगे बढाता चला जा ईश्वर की तरफ…
– परम पूज्य संत श्री आशाराम जी बापू
Upcoming Tithis as per San Jose, CA Calendar
Prabhodini / Dev Uthi Ekadashi – Sunday, November 02, 2014
Tulsi Vivah – Monday, November 03, 2014
Bhishma Panchak Vrat – November 02 to November 06, 2014
Kartik Maas Poornima / Dev Diwali – Thursday, November 06, 2014
 
Small Glimpse of Sewa activities on Diwali being done for more than 4 decades at Pujya Bapuji’s inspiration, check out #DiwaliRedefined 
 
Videos
शीत ऋतू में स्वास्थवर्धक प्रयोग :- 

शीत ऋतू में स्वास्थवर्धक प्रयोग :-स्वास्थ्य की रक्षा की कुछ बाते जान ले और शरीर स्वस्थ रहे :-1) गाजर का हलवा : गाजर का पीला हिस्सा निकाल दिया, उसमें लोहतत्व और विटामिन्स ‘ए’ भरपूर मात्रा में है | गाजर
​का हलवा बना रखा … फ्रिज है तो रखे …रोज खा सकते है |

 फायदे – इससे खून बढ़ता है, नेत्रज्योति बढती है, हृदय और मस्तिक के लिए लाभदायक है और वायुशामक है | ८० प्रकार की बीमारियाँ वायु से होती है | गाजर का हलवा वायु को मारता है | गाजर वायु नाशक है |

2) खजूर और सिंघाड़े :- सिंघाड़े का प्योर आटा मिलेगा ४०,४२,४५ रूपये किलो तक | सिंघाड़े का आटा घी में सेक लिया | जितना आटा सिंघाड़े का घी में सेका उतना खजूर कुचल के दोनों मिलाकर आटा बना लिया जैसे भाकरी, रोटी बनाते ऐसा आटा बन गया | उसे ५-६ ग्राम की गोली-लड्डू बना लिया | सुबह चबा-चबाके दो-तीन खाये फिर थोड़ी देर कुछ न खाये, भूख लगी तो दूध पीयो |

फायदे – वे गोलियाँ जल्दी से खून बनायेगी, वीर्य बनायेगी, बल बनायेगी, जीवन में उत्साह वृद्धि, प्रसन्नता और चेहरे पर निखार, सौंदर्य, गर्भ पोषक और माँ के दूध में वृद्धि करनेवाली, पुरुष का वीर्य भी इससे बढ़ता है, बुढ़ापे को जवानी में ये बदल सकता है और सस्ता भी है | ये सर्दी पाक बड़ा ताकत देता है |

3) मेथी की सुखडी :- मेथी का आटा, मेथी पीस ली आटा बन गया | मेथी आटा घी में सेककर पुराना गुड, थोडी-सी सौंठ मिलाकर सुखडी बना दी |

फायदे – ये सुखडी खाने से महिलाओं को कमरदर्द, बाईओ कों-भाईओ को जोडों का दर्द, सायटिका, हड्डीयों की कमजोरी सब ठीक हो जायेगा |

4) चन्द्रशूर की खीर :- ये सर्दियों में खाने योग्य चन्द्रशूर की खीर (पंसारी के यहाँ मिलाता है चन्द्रशूर) उसमें लोहतत्व, फोसफोरस और कँल्शियम होने से कमरदर्द दूर करने की उसमें क्षमता है | १२ वर्ष ऊपर के बच्चे को ४० दिन तक खिलाये सुबह खाली पेट ….. उनका कद बढ़ेगा और दुसरे लोग भी खायेंगे तो शरीर में मजबूती होगी |

Advertisements
Standard

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s