यौगिक प्रयोग

स्मृति योग की साधना

स्मृति योग की साधना

smriti yog

हे विद्यार्थी ! सेवा व ज्ञान के पथ पर चल…

सदगुरुओं के, सत्शास्त्रों के अनुरूप चलकर तू उन्नति के शिखरों पर चढ़ता जा। स्वार्थरहित, बिना किसी अपेक्षा के यथाशक्ति सामने आये हुए व्यक्ति का सहयोग कर। जिनसे दूसरों का मंगल हो ऐसे सेवाकार्य खोज ले। जो भूले हुए हों उन्हें रास्ता दिखा। तू उन्हें समर्थ सदगुरु के पास पहुँचा दें, जिससे उनकी जन्मों-जन्मों की भूल मिट जाय। लग जाओ, देर मत करो। इस संसार में लोग बहुत दुःखी हैं। उन्हें ब्रह्मज्ञानी सदगुरु के ज्ञान, माधुर्य एवं सांत्वना की तथा उनकी शिक्षा-दीक्षा की जरूरत है। आपको अपने सदगुरुदेव से जो आत्मसुख, आत्मानंद का अनमोल खजाना मिल रहा है, उसे समस्त मानव-जाति में फैलाओ। सेवारूपी ऐसी ज्योत जगाओ जिसके प्रकाश से पूज्य गुरुदेव की महिमा, उनका आलौकिक ज्ञान व दिव्य संदेश विश्व के कोने-कोने में जन-जन तक पहुँचे।

जो दूसरों के मंगल में लग जाता है, क्या उसका अमंगल हो सकता है या दुःख टिक सकता है ? नहीं। जो देते हैं वही हमारे पास लौटकर आता है, बल्कि अनंत गुना होकर आता है। अपने सुख की ललक छोड़कर दूसरों के दुःख मिटाने में लग जाओ। फिर देखना, दुःखहारी श्रीहरि की सत्ता आपको निर्दुःख कर देगी।

अपने दुःख में रोने वाले ! मुस्कराना सीख ले।

औरों के दुःख दर्द में आँसू बहाना सीख ले।।

जो खिलाने में मजा है, आप खाने में नहीं।

जिंदगी में तू किसी के काम आना सीख ले।।

तू किसी से कुछ लेने की चाह मत रखना। महापुरुषों का ज्ञान, उनकी करूणा-कृपा पचा लेना। फिर देखना, तेरा कुटुम्ब, तेरी जाति तो क्या, सम्पूर्ण विश्व के लोग तुझे याद करेंगे और तेरा नाम लिया करेंगे। बाल मंडल, छात्र मंडल व कन्या मंडल द्वारा विद्यार्थियों को महान सेवाओं का अवसर मिले तथा गुरुदेव की बतायी राह पर चलकर वे अपने जीवन को धन्य व कृतकृत्य कर सकें ऐसा प्रयास है। तो अब सेवा के पथ पर चलोगे न ! जरूर चलना क्योंकि सदगुरुओं का दैवी सेवाकार्य व उनका दिव्य ज्ञान आपको महान बना देगा।

ૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐ

 

 

Advertisements
Standard

One thought on “स्मृति योग की साधना

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s