संत वाणी

कुत्ते से भी नीच कौन ?

 

वशिष्ठ जी बोले हे रामजी ! सबसे नीच कुत्ता है,क्योकि जो कोई उसके निकट जाता है उसको काट लेता है ,वो घर-घर में भटकता है और मलिन स्थानो में जाता है,वैसे ही अज्ञानी जीव श्रेष्ठ पुरुषो की निंदा करता है और

मन में तृष्णा रखता है ……

part-1

part-2

 

Advertisements
Standard

3 thoughts on “कुत्ते से भी नीच कौन ?

  1. bhartidhiman says:

    कुछ भी जाने बिना , कुछ भी सोचे बिना , कुछ भी बोले वो मानव नहीं होता ||

    और ब्रह्म ज्ञानी संतो की निंदा करे , कुत्ते से भी नीच अधम वही होता ||

    Like

    • वे लोग बहुत कुछ जानते है जिन्होंने ऐसे घिनोने आरोप डाले|
      फर्क इतना है की वे स्वार्थ के कारण एक सिमित नजरिया ही रख पा रहे है |
      इसलिए ऐसे ब्रह्म ज्ञानी संत को समझने की ताकत नही रख पाते |

      Liked by 1 person

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s