asaram bapu
#Bail4Bapuji, #Justice4Bapuji, #WhySoBiased, Ashram News, Awesome, अवतरण दिवस, ऋषि दर्शन, जन्मोत्सव, दर्शन ध्यान, दैवीय चमत्कार, प्रार्थना, बापू के बच्चे नही रहते कच्चे, बाल संस्कार केंद्र, मंदिर, राष्ट्र जागृति यात्रा, विचार विमर्श, विवेक जागृति, संत वाणी, संस्कार सिंचन, सनातन संस्कृति, हमारे आदर्श, Bapuji, Daily Activitie and Enlightning Pujya bapuji Satsang., Daily Activities and bapuji divine satsang, Dharm Raksha Manch, False Allegations, Guru-Bhakti, GURUDARSHAN, Heavenly Satsang, Hindu, Indian Culture, Innocent Saint, Mangalmay Channel

आशाराम बापू को शत्-शत् अभिनन्दन |

यूँ तो धरा पर जन्म एक आम इंसान भी लेता है और वहीं एक जीव भी लेता है | पर उसके कर्म ही उसको दिव्य बनाते हैं | पूज्य गुरुदेव ने भी सत्संग में कई बार इसका वर्णन किया है “जन्म कर्म च में दिव्यं” अर्थात् उसके जन्म और कर्म दोनों ही दिव्य माने जाते हैं जो जीते जी परमात्मा के रास्ते चल पड़ता है और आत्मज्ञानी संतों की खोज करके अपने को ब्रह्म मस्ती में सराबोर कर परम पद को प्राप्त कर लेता है |

आज हम साधक भी धन्य हुए ऐसे गुरुदेव को पाकर जिन्होंने अपने जीवन काल में सदैव आत्म मस्ती  में रमण किया और जन जन तक इसका सन्देश पंहुचाया | स्वयं तो समाज सेवा और परहित के उत्थान में लगे ही रहे और सभी को इसका लाभ समझाया | बचपन से ही दैविक चमत्कारों से अनजान दुनियावालों को आकर्षित करने वाले पूज्य संत आज भी जन – जन के लोक लाडले और हिन्दू धर्म के हितैषी बनकर सबके दिलों पर राज कर रहे हैं | और उनके ही वचनों और संस्कारों का अनुसरण करते हुए उनके साधक भी समाज सेवा के कार्यों में नित्य प्रति उत्साह और जोश के साथ लगे रहते हैं |

यूँ तो बापूजी कहते हैं कि जन्म तो शरीर का होता है, आत्मा तो अजर-अमर-अविनाशी है पर भला उनके साधक कहाँ ये बात मानने वाले हैं | वो तो अपने गुरुदेव का जन्म दिवस मनाने हेतु कदम से कदम और ताल से ताल मिलाकर समाज सेवा के कार्यों में जोर-शोर से लगे हुए हैं और सदैव लगे रहते हैं |

ब्रह्मज्ञानी महापुरुषों की परम्पराओं पर दृष्टि डाली जाये तो वो आज के युग में भी जीवित है | आइये देखते हैं कैसे :

1) श्री राघवानंद जी महाराज

2) स्वामी रामानंद जी स्वामी

3) संत कबीर दास जी महाराज

4) संत कमाल साहिब

5) श्री दादू दीनदयाल जी महाराज

6) स्वामी निश्चलदास जी महाराज

7) स्वामी केशवानंद जी महाराज

8) स्वामी लीलाशाह जी महाराज

9) संत श्री आशारामजी बापू

गुरु स्वामी रामानंद जी महाराज की परम्परा अपने शिष्य संत कबीरदास जी पंथ से लेकर पूज्य संत श्री आशारामजी बापू जैसे महापुरुषों तक की ये संत परम्परा आज भी सजीव है । हमें विश्ववासियों को, भारत के सपूतों को इस सच्चाई से अवगत कराना होगा कि पूज्य संत श्री आशारामजी बापू कोई सामान्य संत नहीं हैं । ब्रह्मज्ञानी महापुरुषों की संत परम्परा हम आज भी प्रत्यक्ष देख सकते हैं |

हर युग में संतों पर श्रद्धा रखने वाले श्रधालु लाभ लेते आयें हैं वहीँ दूसरी ओर कुतर्की लोग संतों पर जुल्म भी करते आये हैं । लेकिन श्रद्धालुओं की आस्था कभी डिगाये नहीं डिगती क्योंकि श्रद्धा रखने वाले श्रद्धालुओं ने अपने जीवन में आदिभौतिक, आदिदैविक और आध्यात्मिक लाभ एवं चमत्कार प्रत्यक्ष अनुभव किये हुए होते हैं इसलिए वे सत्पथ से कभी विचलित नहीं होते और अपने सत् धर्म का प्रचार-प्रसार करते चले जाते हैं ।

इसी तरह आज संत श्री आशारामजी बापू अपने 75 वर्षीय उम्र में भी लगातार 50 वर्षों से समाज हित के दैवी कार्य करते ही चले जा रहें हैं और आज कुतर्की और षड्यंत्रकारियों के कारण ऐसे महान संत को जेल में डाला गया । लेकिन उनके शिष्यों द्वारा समाज-उत्थान के कार्य आज भी प्रत्यक्ष हम विश्वभर में देख सकते हैं ।

जेल में होने के बावजूद ऐसे महान संत के दैवी कार्य बंद नहीं हुए हैं । आज भी कई जगह जप यज्ञ, भंडारे, जल सेवा, छाछ वितरण, कम्बल वितरण, हॉट केस आदि जीवनोपयोगी सामग्री जरूरतमंदों में वितरित की जाती है । साथ ही साथ बाल संस्कार, युवा सेवा संघ, महिला उत्थान कार्यक्रम, आश्रमों में पूजा-पाठ, भंडारा, योगासन आदि कई कार्यक्रम नित्यप्रति किये जा रहे हैं ।

कल आने वाले 10 अप्रैल 2015 को पूज्य संत श्री आशाराम जी बापू के जन्मोत्सव को हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी “विश्व-सेवा दिवस” के रूप में मनाया जा रहा है  और जोधपुर में विशाल स्वच्छता अभियान भी पुरजोर तरीके से किया जा रहा है |

धन्य हैं ऐसे गुरुदेव और उनके ऐसे गुरुभक्त और उनकी सच्ची श्रद्धा और आस्था !! भारत के महान संतों-महापुरुषों को मेरा शत्-शत् नमन् !

 

 

Advertisements
Standard

Your Opinion

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s