Alerts, Ashram News, Controvercy, Exposion, People's Experience, Saint and People, Social Activities, The Fact

साजिश को सच का रूप देने की मनोवैज्ञानिक रणनीति


shilpa

संत श्री आशारामजी बापू के खिलाफ जो षड्यंत्र चल रहा है, उसका मनोवैज्ञानिक तरीके से किस तरह से सुनियोजन किया गया है, यह मैं एक मनोविज्ञानी होने के नाते आपको बताना चाहती हूँ । आठ मुख्य पहलू समझेंगे कि किस तरह इस साजिश को सच का मुखौटा पहनाया जा रहा है ।

(१) जनता के विशिष्ट वर्गों पर निशाना : समाज के शिक्षित, जागरूक, उच्च एवं मुख्यतः युवा वर्ग को निशाना बनाया गया क्योंकि इनको विश्वास दिलाने पर ये तुरंत प्रतिक्रिया करते हैं ।

(२) षड्यंत्र का मुद्दा : देश की ज्वलंत समस्या ‘महिलाओं पर अत्याचार’ को मुख्य मुद्दा बनाया है । इस भावनात्मक विषय पर हर कोई तुरंत प्रतिक्रिया दे के विरोध दर्शाता है ।

(३) रणनीति : चीज को यथार्थपूर्ण, विश्वसनीय, प्रभावशाली दिखाने जैसी मार्केटिंग रणनीति का उपयोग करके दर्शकों को पूरी तरह से प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है ।

दर्शक मनोविज्ञान का भी दुरुपयोग किया जा रहा है । कोई विज्ञापन हमें पहली बार पसंद नहीं आता है लेकिन जब हम बार-बार उसे देखते हैं तो हमें पता भी नहीं चलता है कि कब हम उस विज्ञापन को गुनगुनाने लग गये । बिल्कुल ऐसे ही बापूजी के खिलाफ इस बोगस मामले को बार-बार दिखाने से दर्शकों को असत्य भी सत्य जैसा लगने लगता है ।

(४) प्रस्तुतिकरण का तरीका : पेड मीडिया चैनलों के एंकर आपके ऊपर हावी होकर बात करना चाहते हैं । वे सिर्फ खबर को बताना नहीं चाहते बल्कि सेकंडभर की फालतू बात को भी ‘ब्रेकिंग न्यूज’ बताकर दिनभर दोहराते हैं और आपको हिप्नोटाइज करने की कोशिश करते हैं ।

(५) भाषा : खबर को बहुत चटपटे शब्दों के द्वारा असामान्य तरीके से बताते हैं । ‘बात गम्भीर है, झड़प, मामूली’ आदि शब्दों की जगह ‘संगीन, वारदात, गिरोह, बड़ा खुलासा, स्टिंग ऑपरेशन’ ऐसे शब्दों के सहारे मामूली मुद्दे को भी भयानक रूप दे देते हैं ।

(६) आधारहीन कहानियाँ बनाना, सुटिंग ऑपरेशन्स और संबंधित बिन्दु : ‘आश्रम में अफीम की खेती, स्टिंग ऑपरेशन’ आदि आधारहीन कहानियाँ बनाकर मामले को रुचिकर बना के उलझाने की कोशिश करते हैं ।

(७) मुख्य हथियार : बहुत सारे विडियो जो दिखाये जाते हैं वे तोड़-मरोड़ के बनाये जाते हैं । ऐसे ऑडियो टेप भी प्रसारित किये जाते हैं । यह टेक्नोलॉजी का दुरुपयोग है ।

इसके अलावा कमजोर, नकारात्मक मानसिकतावालों को डरा के या प्रलोभन देकर उनसे बुलवाते हैं । आश्रम से निकाले गये २-५ बगावतखोर लोगों को मोहरा बनाते हैं ताकि झूठी विश्वसनीयता ब‹ढायी जा सके ।

(८) मनोवैज्ञानिक वातावरण तैयार करना : बापूजी की जमानत की सुनवाई से एक दिन पहले धमकियों की खबरें उछाली जाती हैं, कभी पुलिस को, कभी माता-पिता और लड़की को तो कभी न्यायाधीश को । ये खबरें कभी भी कुछ सत्य साबित नहीं हुर्इं ।

अब आप खुद से प्रश्न पूछिये और खुद ही जवाब ढूँढिये कि क्या यह आरोप सच है या एक सोची-समझी साजिश ?

और एक बात कि केवल पेड मीडिया चैनल ही नहीं बल्कि इसीके समान प्रिंट मीडिया भी खतरनाक तरीके से जनमानस को प्रभावित कर रहा है । इन दोनों से सावधान रहना चाहिए ।

– शिल्पा अग्रवाल,

प्रसिद्ध मनोविज्ञानी

Standard

गौ सेवा - गाय की रक्षा - देश की रक्षा

बापू जी के श्री चित्र को १०८ परिक्रमा करती निवाई गौशाला की गौमाता

Awesome, Gau-sewa, Saint and People, Social Activities

गौ सेवा – गाय की रक्षा – देश की रक्षा

Image
Social Activities

आसाराम बापू की समाज सेवा विश्व वंदनीय है


आसाराम बापू की समाज सेवा विश्व वंदनीय है

Asaram Bapuji

कौन कहता है कि बापू जी गुनाहगार हैं ? आसाराम बापू जी की   समाज सेवा की सूचि  तो इतनी लंबी है कि बयान करना मुश्किल है :

• ये सत्संग आयोजित करते है जिसमे व्यक्ति की घरेलू, रोजी-रोजगार तथा सामाजिक और धार्मिक समस्याओं से निपटने के उपाय बताये जाते हैं जिससे व्यक्ति को सुख-शांति मिलती है !

• ये सत्संग में आये लोगों को शराब-कबाब और दूसरे प्रकार के नशों से मुक्ति पाने के उपाय बताते हैं जिससे लोग नशा मुक्त हो स्वस्थ और सुखी जीवन जीते हैं !

• ये सत्संग में ध्यान-योग शिविरों का आयोजन करते हैं जिस मे तन और मन को स्वस्थ रखने के उपाय बताये जाते हैं जिस से लोग तन से स्वस्थ और मन से प्रसन्न रहते हैं !

• ये बच्चों और बड़ों को गुरु-दीक्षा देकर ऐसे मन्त्र और उपाय बताते हैं जिससे बच्चे शिक्षा के क्षेत्र तरक्की करते हैं और बड़े लौकिक और अलौकिक क्षेत्र में तरक्की करते हैं !

• इनके मार्गदर्शन में देशभर में 17000 से ज्यादा बाल-संस्कार केन्द्र चलते हैं जिस मे बच्चों को स्कूली शिक्षा के अलावा नैतिक, धार्मिक और संस्कारी शिक्षा दी जाती है जिस से इन मे बड़ों के प्रति सम्मान एवं कर्त्तव्य और देश के प्रति निष्ठा, देशभक्ति और संस्कृति अपनाने का भाव विकसित होता है ऐसे बच्चे ही आगे चलकर देश के आदर्श नागरिक बनते हैं !

• इनके देश-विदेश के सैकड़ों आश्रमों में भजन-कीर्तन और सत्संग आदिके द्वारा लोगों को तन-मन-धन से सुखी और संपन्न बनने केसाथ उनके दुर्गुणों और व्यसनों को छुडाने तथा देश भक्त और आदर्श नागरिक बनने की दिशा में अग्रसर किया जाता है !

• इनकी सेवा समितियां, साधकगण, सेवादार देश में आयी किसी भी प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, भूकंप या तूफ़ान आदि से पीड़ित लोगों की सेवा के लिए अपने बूते पर बिना किसी सरकारी सहायता के पहुँच जाते हैं और पीड़ित लोगों की अन्न, धन, वस्त्र, दवा आदि और हर संभव सेवा करते हैं !

• ये ईसाइयत फैलानेवाली मिशनरियों के खिलाफ आवाज उठाते हैं और जिन लोगों का जबरन या लालच देकर धर्मपरिवर्तन करवायाजाता हैं उनको वापिस हिंदू-धर्म में लाने का काम करते हैं !

• ये गौ-सेवा करते हैंऔर गौ माता के मांसाहार पर पाबन्दी चाहते हैं ये वध के लिए भेजी जाने वाली गौओं को प्रयास कर अपनी गौशाला में लाकर उसकी सेवा करते हैं और उसके दूध और गौ-मूत्र का सद्पुयोग करके लाखों लोगों को लाभ पहुंचाते हैं !

• इन के मार्गदर्शन और सहायता से कई वैधशालायें चलायी जाती हैं जिन मे लोगों का इलाज नाम मात्र खर्च पर और बड़े और असाध्य रोगों का इलाज तक बिना आपरेशन और साइड इफ्फेक्ट के किया जाता है !

• ये हिंदू धर्म की रक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं और इस सम्बन्ध में आयोजित सभा-कार्यकर्मों में बढ़-चढ कर तन-मन-धन से सहयोग करते हैं और हिंदू धर्म और संस्कृतिकी रक्षा में काम और विरुद्ध में काम करने वालों से लोहा लेते हैं !

• ये आदिवासीक्षेत्रों के दरिद्र नारायणों के लिए उनके क्षेत्र में रोटी, कपड़ा और मकान का यथा संभव प्रबंध करते हैं और उनको समाज की मुख्य धारा में लाने की भूमिका निभाते हैं !

• ये देश को लुटने वाले और जनता को मूर्ख बनाने वाले नेताओं से लोगों को सावधान करते हैं और घोटाले और कुकर्म करने वाले नेताओं को खरी-खरी बिना डरे-सहमे सुना डालते हैं !

• इनके गुरुकुलों में विद्यार्थियों को बहुत ही वाजिब खर्च पर उच्च शिक्षा संस्कारों सहित निस्वार्थ भाव से प्रदान की जाती है जिस से इन गुरुकुलों के नतीजे बहुत ही अच्छे आतेहैं इससे निजीक्षेत्र के अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों को चलाने वाले ईसाई मिशनरी के लोगों की नींद हराम है जिन्होंने शिक्षा को संस्कार रहित और व्यापार बना रखा है!

• ये सादा जीवन और उच्च विचार का समर्थन करते हैं और देश में स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग पर ज्यादा जोर देते हैं ताकि देश आत्मनिर्भर हो सके और देश विदेशी कर्ज जाल से मुक्त हो तथा देश की अर्थव्यव्यस्था मजबूत हो तथा देशवासी आर्थिक रूप से संपन्न हों!

बस भाई मेरे तो हाथ थक गए बापूजी के गुनाहों की पोल खोलते-खोलते शायद आप भी पढ़-पढ़ कर थक रहे होंगे इसलिए अब और नहीं लिखता पर धन्यवाद देता हूँ देश के नेताओं, मंत्रियों और शासकों को जो इतने बड़े-बड़े गुनाहों के लिए इस संत को छोटे-मोटे आरोप लगा कर इतने छोटे से जेल में डाल दिया…..कुछ बड़ा सोचो ….और मेरे प्यारे देशवासियों जब तक तुम्हारा घर सुरक्षित है तब तक तुम भी घर में हाथ पर हाथ धरे बैठ कर तमाशा देखो इस संत का…… जिस दिन देश का बेड़ा गर्क हो जाये तब फिर किसी विदेशी की गुलामी में रोना खून के आंसू !

Standard

  1. Start the update with a question
  2. End the update with a question
  3. Include a fill-in-the-blank question
  4. Use a short URL
  5. Use a full URL
  6. Use a custom URL (e.g., kiss.ly for KISSmetrics)
  7. Do not include a URL (example below)
  8. Sign the update with “- Your Name”
  9. Use an image with text overlay
  10. Use an image without text overlay
  11. Write your headline in title case (e.g., capitalize all the main words)
  12. Write your headline in sentence case (e.g., capitalize the first word and proper nouns only)
  13. Write your update in all lowercase
  14. “Headline: URL”
  15. Share a link, then remove the link attachment (example below)
  16. No text at all (example below)
  17. Insert a horizontal rule
  18. Place hashtags inside the update
  19. Place hashtags at the end of the update
  20. Use emoji
  21. Insert how you’re feeling (for profiles only – example below)
  22. Attribute and tag other accounts
  23. Punctuation-heavy text (think: plain-text emails, example below)
  24. Place everything in the same paragraph
  25. Place things on separate lines

These different elements can be combined into a single Facebook update in a number of ways. For instance, you could start the update with a question, then write the headline in title case, then sign your name, then add hashtags.

We’re currently trying out signatures and full URLs in some of our Facebook posts.

Also important: Keep in mind that Facebook truncates posts in the news feed after the fifth line.

Screen Shot 2014-09-05 at 7.07.39 AM

Examples of creative Facebook updates

Do not include a URL

wistia facebook

Share a link, then remove the link attachment

buffer fb share

How you’re feeling 

Screen Shot 2014-09-06 at 7.35.01 AM

No text at all

fb no text

 

Facebook

25 Ways to Write a Facebook Update

Image
Ashram News, Ashram News Bulletin, Saint, Sant, Sewa, Social Activities

“क्या कभी ये जानने का भी प्रयास किया आपने ????”


क्या आपको पता है ऐसे 45 हजार से भी ज्यादा गरीब आदिवासी परिवार हैं जिन्हें संत आशारामजी बापू आश्रम और उनके श्री योग वेदांत सेवा समितियाँ पालती हैं ।

ऐसे लोग जिनके घर में कोई कमाने वाला नहीं है !
ऐसे बुजुर्ग जिनके कोई औलाद नहीं है !
ऐसे परिवार जिन्हें 3-3 दिन भूखे रहना पडता था !
ऐसी स्त्रीयाँ जिनके पास तन ढकने को कपडे तक नहीं थे !

ये कहीं और की नहीं, अपने भारत की बात है | ऐसे बुजुर्गों, बेसहारा, भूखे, अपंग, बेरोजगार परिवारों को संत आशारामजी बापू आश्रम और योग वेदांत सेवा सिमतियों द्वारा मुफ्त राशनकार्ड इश्यु किये गये और उन्हें हर माह जाकर निःशुल्क, महीने भर का राशन, दालें, चावल, आटा, खाने का तेल, साबुन (नहाने और कपडा धोने के), चप्पल, जूते, कपडे, बांटे जाते हैं | ये सारी सेवाएँ निःशुल्क उनके घरों तक पहुँचाई जाती हैं । इतना ही नहीं, जिन परिवारों के बच्चे स्कूल नहीं जाते उनके पढने की भी व्यवस्था की है संत आशारामजी बापू और उनकी समितियों ने ………………



पर क्या कभी ये जानने का भी प्रयास किया हमारे मिडिया के पत्रकारों ने औरउनके संपादको ने !!

 

Standard
Bapuji, Gau-sewa

आशारामजी बापू का गौ प्रेम और गौ सेवा !


This slideshow requires JavaScript.

गाय की सेवा स्वयं भगवन नारायण भी किया करते थे ! भगवन श्री कृष्ण तो गायों के साथ ही अधिक समय व्यतीत करते थे क्योंकि गौ माता के शरीर में सभी देवी देवताओं का वास माना गया है !

बापूजी तो गौ सेवा को विशेष महत्व देते हैं ! स्वयं अपने हाथों से उन्हें भोजन भी कराते हैं ! बापूजी को गौ माताओं के बीच समय बिताना बेहद अच्छा लगता है !

Standard

This slideshow requires JavaScript.

This slideshow requires JavaScript.

यहा पर कुछ फेसबूक की फर्जी आईडी दी है, और उसे आप कैसे ब्लॉक कर सकते है उसपर विस्तार से बताया गया है।

https://www.facebook.com/santbharat.ram.31
https://www.facebook.com/santbharat.ram.9
https://www.facebook.com/santshri.asharambapu

आप सभी से अनुरोध है की आप भी ऊपर दी हुयी  फर्जी आईडी को ब्लॉक करे और रिपोर्ट करे ।

ओरिजिनल आईडी यह है :

https://www.facebook.com/santshriasharamjibapu

https://www.facebook.com/SantBharatRam

 

आप को भी कोई फर्जी (फेक) आईडी का पता चले तो तुरंत सबको खबर करे और उसे ब्लॉक करवाये ।

हरी ॐ

Facebook, Mangalmay Channel

How to block fake facebook id

Gallery